प्रधानमंत्री मोदी के जनता कर्फ़्यू/सोशल डिस्टांसिंग के ‘अभूतपूर्व’ निवेदन का समर्थन करनेवाले हर भारतीय के लिए सोनू निगम ऑनलाइन कंसर्ट का करेंगे आयोजन

प्रधानमंत्री मोदी के जनता कर्फ़्यू/सोशल डिस्टांसिंग के ‘अभूतपूर्व’ निवेदन का समर्थन करनेवाले हर भारतीय के लिए सोनू निगम ऑनलाइन कंसर्ट का करेंगे आयोजन

लोगों के दिलों पर राज करेवाले सोनू निगम का न सिर्फ़ गायिकी का अंदाज़ बेहद निराला है, बल्कि उनकी शख़्सियत भी बाक़ी लोगों से जुदा है. अपनी गायिकी से दुनिया भर में अपनी पहचान बनानेवाले सोनू निगम एक सेलिब्रिटी और एक प्रभावशाली शख़्सियत की हैसियत से हमेशा से देश के लिए चिंता का विषय रहे समसामयिक मुद्दों पर अपनी राय पेश करते रहे हैं.

अपने 30 मिनट के भाषण में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने COVID-19 द्वारा पेश की गई चुनौती का मुक़ाबला करने के लिए देश के सभी नागरिकों से तैयार रहने की अपील की थी. सोशल डिस्टांसिंग यानी आपसी दूरी बनाए रखते हुए एक-दूसरे अलग-थलग वक्त गुज़ारने को वक्त की ज़रूरत बताते हुए राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता सोनू निगम ने प्रधानमंत्री की अपील का समर्थन किया और उनके संबोधन को एक ‘अभूतपूर्व’ संबोधन‌ की उपाधि दी. इसी के साथ उन्होंने लोगों से सहयोग करने की अपील भी की.

प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन‌ में कहा, “इस कर्फ़्यू के दौरान न हम घर से बाहर निकलेंगे, न सड़कों पर निकलेंगे और न ही अपने मोहल्लों में घूमेंगे.” उन्होंने यह भी कहा कि इस महामारी से निपटने और डटकर इसका मुक़ाबला करने के लिए हमें पूरी तरह से तैयार रहना चाहिए. प्रधानमंत्री ने ‘सोशल डिस्टांसिंग’ को इस महामारी से लड़ने का सबसे बढ़िया तरीका बताया. प्रधानमंत्री के इस निवेदन को एक बेहद समझदारी भरा क़दम बताते हुए सोनू निगम ने कहा कि COVID-19 के जीवन की निरंतरता महज़ 12 घंटे होती है. उन्होंने कहा कि जनता कर्फ़्यू की अवधि 14 घंटे रखी गई है, जो किसी मास्टरस्ट्रोक से कम‌ नहीं है! भारत एकमात्र ऐसा देश साबित होने जा रहा है, जो इस तरह का अनूठा क़दम उठाने जा रहा है.”

बाक़ियों की तरह सोनू निगम को इस बात का एहसास है कि इस वायरस की रोकथाम के लिए ज़रूरी है कि हर भारतीय ‘जनता कर्फ़्यू’ का स्वेच्छा से हिस्सा बने. उन्होंने कहा, “मैं शाहीन बाग की माताओं और बहनों से हाथ जोड़कर ये कहना चाहता हूं कि जान रहेगी तो आवाज़ रहेगी.” उन्होंने शाहीन बाग़ का समर्थन करने वाले अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर और असुद्दीन ओवैसी से विनम्र विनंती करते हुए कहा कि स्वास्थ के मसले को राजनीतिक विषय बनने से रोकना ज़रूरी है. उन्होंने कहा, “यह एक सामाजिक और इंसानियत से जुड़ा मसला है और राजनीतिक मसला नहीं है. मैं इन सभी शख़्सियतों से निवेदन करता हूं कि वे शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों को से अपील करें कि वे इस नाज़ुक मौके पर अपने प्रदर्शन को स्थगित कर दें. वे (प्रदर्शनकारी) सभी आपकी बात को ज़रूर सुनेंगे.”

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते सोनू निगम अपने वतन पहुंच नहीं पाए और वो इस वक्त दुबई में फ़ंसे हुए हैं. उन्होंने कहा, “मैं आप सभी से विनम्र निवेदन करता हूं‌ कि आप सभी ‘जनता कर्फ़्यू’ का पालन करें, जो रविवार को सुबह 7.00 बजे से रात 9.00 बजे तक लागू रहेगा. चलिए, इस तरह से हम इस महामारी को यहीं पर रोक लें. आप सुरक्षित रहें और अपना ख़्याल रखें.”

सोनू निगम देश में लगनेवाले जनता कर्फ़्यू का पालन करनेवाले लोगों का मनोरंजन करने के लिए 22 मार्च को रात 8.00 बजे से अपने यूट्यूब चैनल पर लाइव परफॉर्म भी करेंगे. उन्होंने अंत में कहा, ‘देशभर के स्वास्थ्य विशेषज्ञों के प्रति आभार जताते संगीत का भी भरपूर लुत्फ़ उठाइए. अपने परिजनों के साथ कुछ ख़ुशनुमां पल बिताना मत भूलना.”

सोनू निगम 22 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय समयानुसार रात 8.00 बजे अपने यू ट्यूब चैनल पर लाइव परफॉर्म करेंगे. ऐसे में आप सभी स्वास्थ्य से जुड़े अधिकारियों का शुक्रिया अदा करते हुए और अपने परिजनों के साथ कुछ क़ीमती लम्हों को गुज़ारते हुए घर बैठे संगीत का भी लुत्फ़ उठाइए.

 

By M.Sunder